विज्ञान से जुड़े गजब के तथ्य।

आज हम जानेंगे विज्ञान से जुड़े कुछ तथ्य

1) यदि किसी मनुष्य के डीएनए को पूरा खोल दिया जाए, तो वह इतना लंबा होगा कि उससे हम सूरज से प्लूटो, और फिर प्लूटो से सूरज तक कि दूरी नाप पाएँगे।

2) जब हम छीकते हैं, तो वह 100 मील प्रति घंटा के रफ़्तार की यात्रा करती है।

3) देहिका ( फ़्ली ) अपने कद से 130 गुना ऊंचा कूद सकते हैं। तो अगर फ़्ली एक 6 फुट लंबा इंसान होती, तो वह 780 फुट की ऊंचाई आराम से कूद लेती, बिना किसी महाशक्ति के!

4) एक बिजली बाम मछली ( इलेक्ट्रिक ईल ) 650 वोल्ट तक कि बिजली पैदा कर सकता है। इसे छुईए और अपने जीवन का सबसे बड़ा झटका पाइए!

5) फोटोन को सूर्य के मध्य से सूर्य की सतह तक आने में 40,000 वर्ष लग जाते हैं। परंतु सूर्य की सतह से पृथ्वी तक आने में केवल 8 मिनट।

6) पृथ्वी की आयु 4 से 5 बिलियन वर्ष है। सूर्य और चंद्रमा की भी करीब इतनी ही है।

7) हमारी धरती लौह ( आयरन), कार्बन, सिलिकॉन और थोड़े मैग्नीशियम से बनी है, केवल मनुष्यों से नहीं!

8) पृथ्वी सौर मंडल में एक मात्र ऐसा ग्रह है, जिसके वायुमंडल में 21 प्रतिशत ऑक्सीजन है और सतह पर जल।

9) पृथ्वी की सतह विवर्तनिक (टेक्टोनिक) प्लेटों से बनी है जो पृथ्वी के कोर और सतह के बीच के चट्टानी मेंटल पर तैरते हैं। इसी कारण धरती पर भूकंप आते हैं और ज्वालामुखी भी फटते हैं। यानी पूरी धरती ज़मीन का एक टुकड़ा नहीं, बल्कि कई-टुकड़ो से बनी है!

10) धरती पर करीब 8.7 मिलियन प्रकार की जीवित प्रजातियाँ है। जिनमें से 2.2 मिलियन तो केवल महासागरों में पाए जाते हैं।

11) पृथ्वी का तीन चौथाई हिस्सा जल ही है। इसीलिए जब अंतरिक्ष यात्रियों ( एस्ट्रोनॉट्स ) ने अंतरिक्ष से पृथ्वी को देखा, तो उन्हें यह अधिकतर नीली ही दिखाई दी और इसका नाम ‘ब्लू प्लेनेट’ पड़ गया।

12) प्लास्टिक को सड़ने (डिकॉम्पोज़) में 450 वर्ष लगते हैं जबकि काँच को कुछ 4,000 वर्ष!

13) हम प्रति दिन 27,000 वृक्ष केवल टॉयलेट पेपर बनाने के लिए काट देते हैं।

14) धरती पर मौजूद कुल पानी में से 97 प्रतिशत नमकीन है और 2 प्रतिशत जमा हुआ है। जिस कारण हमारे पास पीने लायक केवल 1 प्रतिशत पानी है!

15) मांस का उद्योग ग्लोबल वार्मिंग में सबसे ज़्यादा योगदान देता है। पेड़ों को काटना दूसरे स्थान पर आता है। लगभग 68 प्रतिशत पौधे विलुप्त हो जाएँगे।

16) विश्व की जनसंख्या 7 बिलियन से थोड़ी ज़्यादा है और अनुमान है कि 2025 तक यह बढ़कर 8 बिलियन हो जाएगी।

17) धरती पर कभी न कभी रहने वाली प्रजातियों में से 99 प्रतिशत पहले ही विलुप्त हो चुके हैं।

18) ऑक्टोपस के पास तीन दिल होते हैं! अजीब है ना?

19) क्या आपको पता है? झींगा मछली ( लॉबस्टर ) अपने चेहरे से मूत्र करता है और कछुआ अपने कूल्हों ( butt ) से साँस ले सकता है!

20) समुद्री घोड़ों में मादा नही, परंतु नर बच्चों को जन्म देता है!

21) ककापो चिड़िया की बहुत ही तेज़ बासी गंध होती है। गंध के कारण शिकारी इसकी ओर आकर्षित होते हैं। यह गंभीर रूप से लुप्तप्राय ( एंडेन्जर्ड ) है।

22) गिलहरियाँ अपने जीवनकाल में किसी औसत मनुष्य से ज़्यादा वृक्ष लगती हैं। वे अपने अखरोट और बलूत के फल जमीन से नीचे छुपकर भूल जाती हैं!

23) 90 प्रतिशत शिकार शेरनी ही करती है। शेर तभी आगे आता है जब शेरनी को उसकी मदद की आवश्यकता हो।

24) मनुष्यों की तरह पेड़ पौधे भी अपने भाई बहनों को पहचानते हैं और उनका ध्यान रखते हैं।

25) पृथ्वी पर 80,000 तरह की पौधों की खाद्य प्रजातियाँ हैं, जिनमें से हम केवल 30 ही खाते हैं।

26) मनुष्य निरंतर ही वनों का विनाश कर रहा है। हम 80% वन नष्ट कर चुके हैं।

27) दुनिया मे सबसे पुराना जीवित वृक्ष कैलिफ़ोर्निया में है, जो 4,843 वर्ष पुराना है।

28) दुनिया का सबसे ऊंचा पेड़ भी कैलिफ़ोर्निया में ही है। उसकी ऊंचाई 379.1 फ़ीट है।

29) दुनिया का सबसे बड़ा जीव भी एक पेड़है, जो यूटा में है। उसका वजन 6,000 टन है।

30) पूरा अंतरिक्ष एकदम शांत है, क्योंकि आवाज़ के यात्रा करने के लिए वहाँ कोई माध्यम (मीडियम) नहीं है।

31) सूर्य की तुलना में पृथ्वी का आकार कुछ भी नहीं है। पृथ्वी सूर्य से 3,00,000 गुना छोटी है!

32) वीनस हमारे सौर मंडल का सबसे गर्म ग्रह है। उसकी सतह के तापमान 450 ℃ है।

33) हमारा वज़न गुरुत्वाकर्षण पर निर्भर है। मान लीजिए आक वज़न 91kg है। तो मार्स पर आप केवल 35kg के होंगे, क्योंकि मार्स पर गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी से कम है। यानी आप मोटे नहीं, बस गलत ग्रह पर हैं!

34) चाँद का अपना कोई वायुमंडल नहीं। इसलिए अंतरिक्ष यात्रियों के चाँद पर पैरों के निशान मिटाने के लिए वहाँ कोई हवा पानी भी नहीं। इस कारण वो पैरों की निशान वहाँ 100 मिलियन वर्षों तक रह सकते हैं।

35) सूर्य के कोर का तापमान 15 मिलियन ℃ है।

36) आइंस्टीन को चीजें धीरे समझ आती थीं। परंतु थे वह बड़े प्रतिभाशाली। इसलिए, मरणोपरांत भी, उनके दिमाग को संभाल के रखा गया ताकि उसे और समझा जा सके।

37) पहले माना जाता था कि पृथ्वी सौर मंडल के मध्य में स्थित है और बाकी सब ग्रह उसके चारों ओर घूमते हैं। कॉपरनिकस वह पहले वैज्ञानिक थे जिन्होंने इस बात से असहमति जताई और बताया कि सूरज के चारों तरफ़ पृथ्वी घूमती है।

38) लियोनार्डो डा विंची केवल एक चित्रकार नहीं, वे एक गणितज्ञ, वैज्ञानिक, कलाकार, लेखक व संगीतकार भी थे!

39) आर्कमिडीज ने विस्थापन के सिद्धांत ( प्रिंसिपल ऑफ डिस्प्लेसमेंट ) दिया था। उन्हें यह टैब सूझा तंग जब वे टब में नहा रहे थे। वह इतने खुश हुए की “यूरेका यूरेका” चिल्लाते हुए दौड़ने लगे, बिना ये सोचे कि उन्होंने कुछ नहीं पहना है!

40) मेरी क्यूरी, जिन्होंने यूरेनियम से रेडियम की खोज की थी, पहली ऐसी वैज्ञानिक थीं जिन्हें दो नोबेल पुरस्कार मिले हों।

41)पहला वीडियो गेम 1967 में विकसित किया गया था, और उसे “ब्राउन बॉक्स” कहते थे, क्योंकि वह एक भूरे रंग का डिब्बा ही दिखता था।

42)विश्व का पहला कंप्यूटर, “ENIAC”, 27 टन का था, और एक हॉल जितना विशाल था।

43)इंटरनेट तथा वर्ल्ड वाइड वेब (www) दो अलग अलग चीजें हैं।

44)आज वैज्ञानिक रोबोटिक्स में रूचि दिखा रहे हैं और उनपर काम भी कर रहे हैं। परंतु लियोनार्डो डा विंची ने तो 1495 में ही रोबोट बनाने की योजना का स्केच बना दिया था!

45)“कैमरा ऑब्स्क्युरा” एक कैमरा जैसा ही यंत्र है, जिसने आधुनिक कैमरा के आविष्कार में अहम भूमिका निभाई। प्राचीन काल में चीनी और यूनानी लोग इसे स्क्रीन पर छवि बनाने के लिए प्रयोग में लेते थे।

46)वनस्पतियों के कचरे से मीथेन गैस बनाई जाती है जिससे फिर बिजली का उत्पाद किया जाता है! हैना एक रोचक बात?

47)दुनिया का सबसे ऊंचा ब्रिज, “ म्याऊ वीआडक्ट ( Millau Viaduct ) फ्रांस में है जिसकी ऊंचाई कुछ 1000 फ़ीट है। वह बीम्स और तारों (cables) द्वारा टिका है।

48)दुबई में स्थित पाम द्वीप अपने आप में अभियांत्रिकी(इंजीनियरिंग) का एक चमत्कार है। ये द्वीप मानव निर्मित हैं, और पानी पर तैरते हैं।

49)विश्व का सबसे बड़ा पार्टिकल एक्सेलरेटर जिनेवा में है। इसे 10,000 वैज्ञानिकों ने मिलकर बनाया है। यह ज़मीन के नीचे एक सुरंग में स्थित है।

50)चंद्रा भेदशाला (ऑब्जर्वेटरी ) सबसे बड़ी X रे दूरबीन है। यह अंतरिक्ष में भेजा हुआ सबसे बड़ा उपग्रह है।

51)गोल्फ की गेंद में छोटे छोटे गड्ढे अंग्रेज़ी इंजीनियर विलियम टेलर में बनाए थे। इससे घर्षण कम होता है और गेंद दूर जाती है।

Post a Comment

0 Comments