पृथ्वी से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य।

जानते हैं पृथ्वी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

पृथ्वी (Earth) हमारे सौर मंडल का सूर्य से दूरी के क्रम में तीसरा ग्रह है। इसे नीला ग्रह भी कहते हैं। पृथ्वी एक मात्र ऐसा ग्रह है जिसपर जीवन मौजूद है, वैज्ञानिकों के मुताबिक सौर मंडल के दूसरे ग्रहों पर जीवन नहीं है। इस अद्भुत ग्रह का जन्म आज से 4.5 अरब वर्ष पहले हुआ था, जिसमें जीवन की शुरुवात को 3.3 अरब वर्ष पहले माना जाता है। सौर मंडल  में आठ ग्रहों में पृथ्वी पांचवा सबसे बड़ा ग्रह है। आईये जानते हैं प्रथ्वी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य।
 

  • 3,959 मील की त्रिज्या के साथ,  हमारे सौर मंडल का पांचवा सबसे बड़ा ग्रह है।

  • पृथ्वी को बाहरी अंतरिक्ष से अपने नीले रंग की उपस्थिति के कारण "Blue Planet" के रूप में भी जाना जाता है।

  • पृथ्वी कि सतह पर 70% से अधिक पानी है। यह पृथ्वी के द्रव्यमान के 1% से भी कम है। पृथ्वी का द्रव्यमान 5,972,190,000,000,000,000,000,000 किग्रा है।
  • Earth सौरमंडल का एकमात्र ग्रह है जिसकी सतह के नीचे टेक्टोनिक प्लेट्स मौजूद हैं. ये प्लेटें पृथ्वी के अंदर मैग्मा के ऊपर तैर रही हैं, जब ये प्लेटें आपस में टकराती हैं, तो पृथ्वी पर कंपन पैदा होती है जिसे आम भाषा में भूकंप कहते है.
  • पृथ्वी एकमात्र ऐसा ग्रह है जिसका नाम किसी देवता के नाम पर नहीं रखा गया था। जैसे मंगल,शनि, गुरु।
  • पृथ्वी के चंद्रमा कि त्रिज्या 1,738 किलोमीटर है जोकि सौर मंडल का पांचवां सबसे बड़ा चंद्रमा है।
  • पृथ्वी पर समुद्रों में आने वाला ज्वार-भाटा, पृथ्वी और चंद्रमा के बीच गुरुत्वाकर्षण बल के कारण होता है।

  • प्रथ्वी सूर्य के चारों ओर 107,182 किलोमीटर प्रति घंटे के औसत वेग से यात्रा कर रही हैं।
  • पृथ्वी के घूमने की गति धीरे-धीरे धीमी हो रही है; इसका अर्थ है कि अब से लगभग 140 मिलियन वर्षों में, पृथ्वी पर एक दिन की लंबाई 25 घंटे होगी।
  • पृथ्वी के आंतरिक कोर का तापमान सूर्य कि सतह के तापमान से भी अधिक है।
  • प्रथ्वी पर हवाई जहाज अधिकतम 60,000 फीट की ऊंचाई पर उड़ते हैं जो लगभग 18.288 किमी है।
  • प्रशांत महासागर की सतह के नीचे जापान के दक्षिण पूर्व में "मारियाना ट्रेंच" नामक खाई पृथ्वी पर सबसे गहरी ज्ञात खाई है जोकि लगभग सात मील गहरी है।
  • पृथ्वी पर होने वाले मौसम का बदलाव इसके सूर्य के चारो और घूर्णन गति के कारण होते है।

  • धरती पर सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान मेघालय का मासिनराम है, इस स्थान पर 11,871 मिमी औसत वार्षिक वर्षा होती है।

Post a Comment

0 Comments