चांद पर ज़मीन खरीदने का सच !

अब दुनिया में एक नया चलन है जोकि धरती से जुड़ा नहीं है लेकिन चंद्रमा पर बसने के लिए है। ऐसे कई लोग हैं जो चंद्रमा पर जमीन के मालिक हैं। और, वह व्यक्ति जो चाँद का मालिक है वह प्रसिद्ध कंपनी लूनर एम्बैसी के डेनिस होप है। वह एक ऐसे व्यक्ति है जिसने चंद्रमा पर जमीन बेचना शुरू कर दिया।


तीन पूर्व राष्ट्रपतियों ने डेनिस होप से चंद्रमा के कुछ हिस्सों को खरीदा है। चंद्रमा पर जमीन खरीदने वाले तीन पूर्व राष्ट्रपति जिम्मी कार्टर, जॉर्ज एच.डब्लू. बुश, और रोनाल्ड रीगन हैं।

यहाँ नासा (नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन) के 30 से अधिक वर्तमान और पूर्व सदस्य हैं जिन्होंने चंद्रमा पर जमीन खरीदी है। और, लगभग 250 प्रसिद्ध मशहूर हस्तियाँ हैं जिन्होंने भी चंद्रमा पर जमीन का एक टुकड़ा खरीदा है।

बॉलीवुड के शारुख खान चंद्रमा पर एक जमीन के मालिक है। उन्होंने अपने जन्मदिनों में से एक पर इस खबर की पुष्टि की कि एक ऑस्ट्रेलियाई महिला है जो उनके प्रत्येक जन्मदिन पर चंद्रमा पर उनके लिए जमीन खरीदती है। और, उन्होंने यह भी बताया कि वह लूनर रिपब्लिक सोसायटी द्वारा जमीन के मालिक होने का ओनरशिप लेती है। ऐसा कहा जाता है कि यह अभिनेता चाँद पर एकड़ जमीन का मालिक है।
    

भारत में हैदराबाद से एक उद्योगपति ने चंद्रमा पर पांच एकड़ चन्द्र प्लॉट खरीदे हैं। उसने चंद्रमा पर इस जमीन को ऑनलाइन खरीदने के लिए 140 डालर का लेनदेन किया। इस व्यक्ति का नाम राजीव वी बगदी है जो चंद्रमा पर जमीन का मालिक है। उनका स्वामित्व प्रमाण पत्र लूनर रिपब्लिक द्वारा अधिकृत है। और, चंद्रमा पर जमीन का मालिक होने वाला सदस्य राष्ट्रीय एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन के साथ पंजीकृत है।
 

चाँद पर ज़मीन के क्या हैं असल मायने?
वास्तव में चाँद पर ज़मीन खरीदना मतलब महज एक सर्टिफिकेट खरीदना हैं। क्योंकि उस जमीन का हम कुछ भी उपयोग नहीं कर सकते ...हम वहां जाकर रह नहीं सकते!! सिर्फ़ एक मानसिक समाधान मिलेगा कि हमारे पास चाँद पर ज़मीन हैं, इसके अलावा कुछ नहीं। इसके निम्न कारण हैं-
चाँद पर हवा ही नहीं हैं। जब हवा ही नहीं हैं, तो जीवन असंभव हैं!
अब तक सिर्फ़ 12 मनुष्य ही चाँद पर गए हैं। 1972 के बाद से मतलब कि पिछले 46 साल से चाँद पर कोई अंतरिक्ष यात्री नहीं गया हैं। ऐसी स्थिति में आम इंसान चाँद पर जाकर नहीं रह सकता।
भारत के चंद्रमा पर पानी की मौजूदगी की खोज के बावजूद वैज्ञानिकों ने दावा किया हैं कि उसके अंदरुनी क्षेत्र इतने शुष्क हो सकते हैं कि वहाँ जीवन संभव नहीं हो सकता।


चांद पर जमीन खरीदने वालों का क्या होगा ?
उनके लिए चांद पर जमीन खरीदना और कुछ नहीं बल्कि सिर्फ एक कागज के टुकड़े के लिए बहुत सारे पैसे देने जैसा है. उनके पास और कुछ नहीं है सिवाए एक सर्टिफिकेट के. न तो वो अपनी जमीन का निरीक्षण करने जा सकते हैं न ही किसी तरह से वहां पर रह सकते हैं. बस ये सोचकर ही खुश होते रहिए कि आपके पास चांद पर एक जमीन हैं।

Post a Comment

0 Comments