ई-पास लिये बिना कर सकेंगे यात्रा लेकिन इंदौर, भोपाल छोड़कर !!!


                               
देशभर की तरह मध्य प्रदेश में भी कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। मौजूदां आंकड़ों पर गौर करें तो प्रदेश में अब तक संक्रमण का शिकार हुए लोगों के आंकड़े 8 हज़ार के पार जा पहुंचे हैं। एक्सपर्ट्स कहते हैं कि, संक्रमण से बचाव स्वरूप शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत रखकर वायरस से लड़ने की क्षमता हासिल की जा सकती है। इसी बीच खबर आई हैं कि 31 मई के बाद मध्यप्रदेश में lockdown 15 दिनों के लिये बढाया दिया गया हैं    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संदेश में   इसका ऐलान किया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में स्कूल-कॉलेज खुलेंगे, लेकिन इस पर आखिरी फैसला 13 जून के बाद ही लिया जाएगा। शिवराज सिंह चौहान ने कहा, "कोरोना के खतरे के मद्देनजर लॉकडाउन 15 दिन के लिए बढ़ाया जा रहा है।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम संदेश में यातायात के लिये  लॉकडाउन 5.0 की रणनीति बताई। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कोरोना के हॉट-स्पॉट भोपाल, इंदौर और उज्जैन को छोड़कर बाकी जिलों में 50%क्षमता के साथ सार्वजनिक परिवहन की बसें शुरू होंगी।  लेकिन अंतरराज्यीय बसों का संचालन 7 जून तक बंद रहेगा। राज्य या राज्य के बाहर आने-जाने के लिए अब ई-पास की जरूरत नहीं होगी। भोपाल, इंदौर और उज्जैन संभाग सहित पूरे प्रदेश में फैक्ट्री के संचालन और निर्माण कार्य में लगे मजदूरों के परिवहन के लिए बसें संचालित करने की अनुमति होगी। सार्वजनिक परिवहन की बसें इंदौर, उज्जैन, भोपाल में नहीं चलेंगी।

Post a Comment

0 Comments